आल इंडिया मजलिस इत्ताहदुल मुसलिमीन (AIMIM) के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी भी अब मौलना कलीम सिद्दीक़ी के समर्थन में उतर आए हैं उन्होंने मौलना कलीम सिद्दीक़ी का समर्थन करते हुए कहा है कि अपने धर्म की प्रचार करना कोई जुर्म नहीं है।

इस मामले में ओवैसी ने मौलना कलीम सिद्दीक़ी के वकील अबूबकर सब्बाक से भी बात की है। ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि मौलना के वकील से बात की। आर्टिकल 25 आपके विश्वास का प्रचार करने के अधिकार की रक्षा करता है। अपने धर्म की जानकारी देना किसी भी तरह से जुर्म नहीं है। उत्तर प्रदेश सरकार मीडिया ट्रायल कर रही है। उनके खिलाफ लगाई गई धाराएं आरोपों से मेल नहीं खाती।

मौलना कलीम सिद्दीक़ी को यूपी एटीएस ने मंगलवार रात को मेरठ से उठाया था जिसके बाद बुधवार दोपहर उत्तर प्रदेश के एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने उनकी गिरफ़्तारी की पुष्टि की थी। यूपी ए टी एस ने उन पर धर्मांतरण का आरोप लगाया है।

हालाँकि उनकी गिरफ़्तारी के बाद देश भर के मुसलमान इसके आवाज़ उठा रहे हैं कई जगह इस गिरफ़्तारी के ख़िलाफ़ प्रदर्शन भी हुए हैं

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment