हाई प्रोफाइल नामों वाले मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी मामले की पहेली और उलझती जा रही है. नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) के छापे और जांच पर फिर से सवाल उठने लगे हैं. बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान के बेटे (Aryan Khan) के खिलाफ मामले में एक गवाह ने एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारी समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) और कथित प्राइवेट इन्वेस्टिगेटर केपी गोसावी (KP Gosavi) के बीच मिलीभगत और करोड़ों रूपये के लेन-देन के बारे में चौंकाने वाले दावे किए हैं.

गवाह ने यह भी कहा कि NCB ने उससे पंचनामे में सादे पेपर पर साइन कराया. समीर वानखेड़े ने किसी भी गलत काम के आरोप से इनकार करते हुए कहा कि वह “एक उपयुक्त जवाब” देंगे

खुद को केपी गोसावी का निजी बॉडीगार्ड बताने वाले प्रभाकर सेल ने एक हलफनामे में दावा किया है कि उसने केपी गोसावी और सैम डिसूजा के बीच 18 करोड़ रुपये के सौदे के बारे में सुना, जिसमें 8 करोड़ समीर वानखेड़े को भी दिए जाने थे. प्रभाकर ने यह भी कहा है कि उसने केपी गोसावी से कैश प्राप्त किया था और इसे सैम डिसूजा को सौंप दिया था.

गौरतलब है कि प्रभाकर सेल को एजेंसी ने 6 अक्टूबर को जारी एक प्रेस रिलीज में गवाह के रूप में नामित किया था. प्रभाकर सेल ने अपने हलफनामे में आरोप लगाया कि गोसावी केपी लापता है. प्रभाकर ने लिखा है कि उसे अपने जीवन और स्वतंत्रता के लिए डर है, यही वजह है कि उसने हलफनामा दायर किया है.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment