अमानतुल्लाह खान की गिरफ्तारी पर अरविंद केजरीवाल बोले, लगता है गुजरात में इनको बहुत ज्यादा तकलीफ हो रही है।

राजनीतिअमानतुल्लाह खान की गिरफ्तारी पर अरविंद केजरीवाल बोले, लगता है गुजरात में इनको बहुत ज्यादा तकलीफ हो रही है।

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमानतुल्ला खान की गिरफ्तारी पर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, ”पहले सत्येंद्र जैन को गिरफ़्तार किया, लेकिन कोई सुबूत पेश नहीं कर पा रहे. मनीष के घर रेड की कुछ नहीं मिला, अब अमानतुल्ला को गिरफ्तार किया. अभी और भी कई विधायकों को गिरफ्तार करेंगे. लगता है गुजरात में इन्हें बहुत ज्यादा तकलीफ हो रही है.”

अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके उक्त बात कही. आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान को कल दिल्ली पुलिस की एसीबी की टीम ने गिरफ्तार किया है.

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में भारतीय जनता पार्टी  (BJP) को निशाना बनाया. उन्होंने कहा कि, पिछले कई महीने से एक खास तरीके से भाजपा अपनी एजेंसियों का उपयोग करके झूठ की इमारत खड़ी कर रही है. 

उन्होंने कहा कि, पहले सत्येंद्र जैन के घर छापा मारा, मनीष सिसोदिया के यहां छापा मारा. एजेंसियों ने बताया कि सत्येंद्र जैन के करीबियों के यहां छापेमारी में लगभग साढ़े 3 करोड़ रुपये मिले लेकिन एजेंसी यह बताने को तैयार नहीं कि उन करीबियों से जैन का क्या रिश्ता था? उसके बाद मनीष सिसोदिया के यहां छापा मारा गया. घर से लेकर गांव तक छापा मारा गया लेकिन कुछ बरामद नहीं हुआ.

भारद्वाज ने कहा कि, कल अमानतुल्ला के यहां छापा मारा गया. उनके दो ठिकाने हैं. दोनों ठिकानों पर कल छापेमारी के दौरान टीम को कुछ नहीं मिला. अमानत के ठिकानों से टीम को कुछ नहीं मिला. ACB से मेरी बात हुई है और इस पूरे मामले को लेकर ACB ने दो मुकदमे दर्ज किए हैं, उनके करीबियों के खिलाफ. ये सारा मामला हताशा का है. ये सारा मामला जनवरी 2020 का है. पूछताछ के लिए अमानत को बुलाया गया था और उसके पीछे छापेमारी की गई और उसको अमानत से जोड़ा जा रहा है.

उन्होंने कहा कि, आम आदमी पार्टी से घबराकर भाजपा अब ये सब कर रही है. एक ऑडियो से यह साफ है कि एसीबी को जांच के दौरान कुछ नहीं मिला. गुजरात में आम आदमी पार्टी के बढ़ते प्रभाव से घबराकर भाजपा अपनी एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है.

उन्होंने कहा कि, इस मामले में तीन FIR दर्ज की गई हैं जिनमें कहीं भी अमानत का नाम नहीं है. एसीबी ने जानबूझकर ये खबर इस तरीके से दी है जिससे ये लगे कि अमानत के घर से हथियार और कारतूस बरामद हुए हैं जबकि एसीबी की एफआईआर में कहीं भी अमानत का जिक्र नहीं है.

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles