मामला दरअसल गोपालगंज के रहने वाले शंभू शरण शुक्ल के पुत्र अंबुज शुक्ला की है जो कि दुबई के किसी ग्लास एंड अल्मुनियम कंपनी में काम करता था,  पर अभी UAE में  स्थित शाहजहां सेंट्रल जेल में बंद है ।क्या है पूरा मामला आइए बताते हैं आपको.

बात तब की है जब 6 दिसंबर 2017 को अंबुज दुबई काम की तलाश में गया था ,और वहां उसे एक ग्लास एंड अल्युमिनियम कंपनी  में काम भी मिल गया। मामला तब शुरू हुआ जब अंबुज के फोन से एक मुस्लिम विरोधी बयान फेसबुक पर पोस्ट किया गया । जिसके बाद फरवरी 2020 को उस पर सुनवाई कर बिन लादेन जेल में डाल दिया गया। 20 अक्टूबर 2020 को जब अंबुज ने अपनी गलती मान कर माफी मांगी, तब कोर्ट के आदेश के अनुसार उसकी रिहाई हुई। जिसके कुछ समय बाद ही उसे पकड़ कर वापस दुबई के शाहजहां सेंट्रल जेल में डाल दिया गया । तब से अंबुज वही बंद है और अभी तक इसकी कोई सुनवाई नहीं हुई है ।

क्या है पिता और भाई का कहना:-

पिता और भाई के बयानों के मुताबिक पोस्ट अंबुज ने नहीं, बल्कि उसके किसी दोस्त ने वायरल की थी  । क्योंकि पोस्ट उनके फोन से डाली गई थी, इस स्थिति में उन पर कार्रवाई कर उन्हें ही जेल में डाल दिया गया ।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment