कश्मीर का ऐसा उद्यमी छात्र जिसने व्यवसायों को डिजिटल दुनिया में जाने में की मदद, पद्मश्री के लिए हुए नामित

शिक्षाकश्मीर का ऐसा उद्यमी छात्र जिसने व्यवसायों को डिजिटल दुनिया में जाने में की मदद, पद्मश्री के लिए हुए नामित

श्रीनगर: बटामालू श्रीनगर के एक उद्यमी शेख आसिफ (Sheikh Asif) छात्रों को डिजिटल रूप से सक्रिय होना और आईटी पाठ्यक्रमों में रुचि विकसित करना सिखा रहे हैं।

शेख आसिफ यूके स्थित कंपनी टेम्स इन्फोटेक (UK Based Company Thames infotech) के सीईओ और मालिक हैं। वह एक मूल रूप से स्कूल छोड़ने वाले व्यक्ति है जिन्होंने अपने जीवन के पहले चरण में बहुत कठिनाइयों का सामना किया !

शेख आसिफ सैकड़ों छात्रों को ऐसे समय में डिजिटल अवसरों का लाभ उठाने के लिए सलाह दे रहे हैं जब सब कुछ डिजिटल हो रहा है। एक मुद्रित समाचार पत्र ने अपने पाठकों को खो दिया क्योंकि लोग इसके ऑनलाइन प्रारूप को पढ़ते हैं, रेडियो को पॉडकास्ट द्वारा प्रतिस्थापित किया जाता है और टेलीविजन द्वारा परोसा जाने वाला मनोरंजन अब सोशल मीडिया द्वारा परोसा जा रहा है। और पारंपरिक विपणक डिजिटल रूप से अपनी उपस्थिति बनाए हुए हैं।

एक डिजिटल मार्केटिंग विशेषज्ञ शेख आसिफ दुनिया भर से छोटे व्यवसायों को ऑनलाइन होने में मदद कर रहे है और अब अपने क्षेत्र, कश्मीर में सभी प्रकार के व्यवसायों को ऑनलाइन करने का लक्ष्य बना रहे है।

शेख आसिफ ने हमसे अपनी बातचीत में कहा “महामारी के दौरान जब बाजार बंद थे, लोगों ने मुझे अपना कारोबार ऑनलाइन करने के लिए मदद मांगी। मुझे भारत, ब्रिटेन और अमेरिका के विभिन्न शहरों से फोन आए। इस बीच, मैंने एक किताब प्रकाशित की, जिसका शीर्षक था ‘व्यवसायों को ऑनलाइन कैसे लाया जाए’,

शेख आसिफ कहते हैं।, “अब मैंने क्वेशचन एंड अंसर सत्र शुरू किया है जहां लोग मुझसे सवाल पूछते हैं और मैं उनके जवाब ऑनलाइन प्रकाशित करता हूं या उन्हें समाधान मेल करता हूं”,

शेख आसिफ ने 800+ छात्रों को डिजिटल मार्केटिंग और वेबसाइट डिजाइन में मुफ्त ऑनलाइन कक्षाएं प्रदान करके प्रशिक्षित किया है। उन्होंने यह भी बताया कि “यहां हमारे पास हर 100 डॉक्टरों के लिए सिर्फ एक आईटी पेशेवर है। लोगों को लगता है कि आईटी में कोई गुंजाइश नहीं है। लेकिन इसमें बहुत गुंजाइश है। मैं युवाओं को वेबसाइट डिजाइनिंग और ग्राफिक्स के बारे में सबक दे रहा हूं और सिखा रहा हूं जो कि बिल्कुल मुफ्त है। क्योंकि मैं नहीं चाहता कि मेरा क्षेत्र इस विशेष क्षेत्र में पिछड़ जाए।” डिजिटल कश्मीर बनाने के मिशन के साथ शेख आसिफ ने कई पुरस्कार जीते हैं और उन्हें चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म श्री 2022 के लिए नामांकित किया गया है।

शेख आसिफ का ऑफिस

शेख आसिफ के भाई इम्तियाज रसूल कहते हैं, “आसिफ हमेशा एक मेहनती व्यक्ति रहा है और उसने जीवन में बहुत संघर्ष किया लेकिन अपने सपनों को कभी नहीं छोड़ा और अपनी खुद की कंपनी शुरू की और अब दूसरों की मदद कर रहा है।”

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles