जिला जेल में बंद सपा सांसद को हाईकोर्ट ने राहत दी है। कोर्ट ने एक मामले में सपा सांसद की जमानत याचिका मंजूर कर ली है। जमानत मंजूर हाेने के बाद सपा सांसद की रिहाई पर चर्चा तेज हो गई है।

फिलहाल, वह जेल से बाहर कब आएंगे, अभी यह स्पष्ट नहीं है। बताया जा रहा है कि दो मामलों में अभी फैसला आना बाकी है। जेलर आरएस यादव ने बताया कि सपा सांसद आजम खां की रिहाई से संबंधित अभी कोई आदेश नहीं आया है।

फरवरी 2020 से सीतापुर जेल में सपा सांसद

रामपुर से सपा सांसद आजम खां को पत्नी तजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला के साथ 27 फरवरी 2020 को सीतापुर जेल में शिफ्ट किया गया था। सपा सांसद को जिला जेल में दो वर्ष से अधिक समय हो गया है। इस बीच वह कोविड संक्रमित भी हुए। उपचार के लिए लखनऊ के मेदांता अस्पताल में कई दिन भर्ती रहे। पत्नी डा. तजीन फात्मा 21 दिसंबर 2020 में रिहा हो गई थी।

अब्दुल्ला की रिहाई के बाद से लगने लगे कयास

15 जनवरी 2022 को सपा सांसद के बेटे अब्दुल्ला आजम जेल से रिहा हुए थे। बेटे की रिहाई के बाद से सपा सांसद की रिहाई के कयास भी लगने लगे थे। मामलों में पैरवी भी तेज हुई। सपा सांसद ने विधानसभा चुनाव में जेल से ही नामांकन दाखिल किया है। वह रामपुर सदर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

Leave a comment