कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कहा कि अगर पार्टी सत्ता में आती है तो तीन कृषि कानूनों को खत्म कर देगी। आज सहारनपुर में किसान महापंचायत को कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने संबोधित किया। प्रियंका ने कहा कि 1955 में जवाहरलाल नेहरू ने जमाखोरी के खिलाफ कानून बनाया था। लेकिन इस कानून को भाजपा सरकार ने खत्म कर दिया है। यह नया कानून ‘अरबपतियों’ की मदद करेगा। वे किसानों की उपज का मूल्य तय करेंगे।

नए कृषि कानूनों को लेकर केंद्र पर हमला करते हुए, कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने सहारनपुर में एक रैली में कहा कि अगर उनकी पार्टी सत्ता में आती है तो वे कृषि कानूनों को खत्म कर देंगे। पार्टी द्वारा आयोजित “किसान पंचायत” में, कांग्रेस महासचिव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य भाजपा नेताओं पर किसानों का अपमान करने का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा, “तीन कानून काले कानून हैं। अगर कांग्रेस सत्ता में आती है तो इन कानूनों को रद्द कर देगी।” उन्होंने कहा कि जब तक कानूनों को खत्म नहीं किया जाता है तब तक पार्टी की लड़ाई जारी रहेगी। अगले साल यूपी में विधानसभा चुनाव से पहले इस तरह किसान के बीच पार्टी ने पहली रैली की है।

प्रियंका ने कहा कि ये नए कानून ‘अरबपतियों’ की मदद करेंगे। वे किसानों की उपज का मूल्य तय करेंगे। इससे पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने आज शाकुंभरी देवी मंदिर में पूजा की। साथ ही खानकाह दरगाह भी पहुंचीं।

प्रियंका गांधी वाड्रा की यात्रा से पहले सहारनपुर में कार्यक्रम पर प्रतिबंध लगाने के लिए आदेश जारी किए गए थे। कांग्रेस ने पिछले साल सितंबर में पास हुए तीन कृषि कानूनों के खिलाफ और किसानों के विरोध के समर्थन में किसान महापंचायत आयोजित की है।

प्रियंका ने आज सुबह ट्वीट किया, “किसानों के दिल की बात सुनने, समझने, उनसे अपनी भावनाएँ बाँटने, उनके संघर्ष का साथ देने आज सहारनपुर में रहूँगी। भाजपा सरकार को काले कृषि कानून वापस लेने होंगे। ”

बता दें कि कांग्रेस यूपी के 27 जिलों में  “जय जवान, जय किसान” अभियान चला रही है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *