13.1 C
Delhi
Saturday, January 28, 2023
No menu items!

अलका लांबा ने प्रधानमंत्री पर साधा निशाना, जाने क्या कुछ कहा

- Advertisement -
- Advertisement -

Pushkar: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की राष्ट्रीय प्रवक्ता अलका लांबा रविवार को तीर्थ नगरी पुष्कर पहुंची. पुष्कर पहुंचने पर पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री और पीसीसी उपाध्यक्ष नसीम अख्तर इंसाफ के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने अलका लांबा का फूल मालाओं के साथ स्वागत किया।

लांबा ने पुष्कर पहुंचकर जगतपिता ब्रह्मा मंदिर में दर्शन किए और गर्भ ग्रह में जाकर भगवान ब्रह्मा की आरती उतारी।

- Advertisement -

इसके बाद लांबा पुष्कर सरोवर पहुंची. जहां पंडित बैजनाथ पाराशर ने उन्हें वैदिक मंत्रोच्चार के बीच सरोवर की पूजा-अर्चना करवाई. पत्रकारों से बातचीत के दौरान लांबा ने केंद्र की भाजपा सरकार पर जुबानी वार करते हुए महंगाई, बेरोजगारी और सरकार की कोरोना आपदा प्रबंधन की नीति पर जमकर निशाना साधा. लांबा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्यों को पेट्रोलियम पदार्थों पर वेट घटाने की की गई अपील पर कहा कि सबसे पहले प्रधानमंत्री अपनी विदेश यात्राओं पर हो रहे खर्चे को रोकें.

केंद्र सरकार को नसीहत देते हुए लांबा ने कहा कि पेट्रोल और डीजल पर सरकार ने 24 लाख करोड़ कमाया है. उसे महंगाई से लड़ने के लिए सरकार को जनता की मदद के लिए खर्च करना चाहिए. पूर्व में राजस्थान में कांग्रेस सरकार पर आय संकट पर लांबा ने कहा कि भाजपा उत्तराखंड ,मध्य प्रदेश, कर्नाटक जैसे राज्यों में पहले भी लोकतांत्रिक मूल्यों को खत्म कर चुकी है पर राजस्थान में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के कुशल नेतृत्व के चलते यहां ऐसा संभव नहीं हो पाया.

अलका लांबा ने अपनी यात्रा के बारे में बताते हुए कहा कि कि कांग्रेस सेवादल देश भर में आजादी गौरव यात्रा निकाल रहा है. इसी यात्रा के तहत हम लोग पुष्कर आए हैं. लांबा ने बताया कि यात्रा का उद्देश्य देश में पनप रहे धार्मिक वैमनस्य के माहौल को खत्म कर राष्ट्रीयता की भावना जगाना है. आगामी दिनों में कांग्रेस राजस्थान के उदयपुर में 13 मई से 15 मई तक राष्ट्रीय चिंतन शिविर आयोजित कर रही है. जिसमें 400 से अधिक कांग्रेस के वरिष्ठ नेता भाग लेंगे .

- Advertisement -
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here