11.7 C
London
Friday, June 14, 2024

कन्हैयालाल के सर कलम के बाद निकला प्रशासन का फरमान, मुस्लिम फेरीवाले से सामान खरीदा तो 5100 का जुर्माना

- Advertisement -spot_imgspot_img
- Advertisement -spot_imgspot_img

Gujarat News: उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या का आक्रोश देशभर में देखने को मिल रहा है। हत्यारों को सख्त सजा देने के लिए लोग सोशल मीडिया पर गुस्सा जाहिर कर रहे हैं। इस बीच गुजरात के बनासकांठा प्रशासन से एक फरमान जारी कर दिया है। लोगों से मुस्लिम फेरीवालों से समान नहीं खरीदनो कहा है। हालांकि इंटरनेट पर लेटर पैड वायरल होने के बाद प्रशासन को सफाई देनी पड़ी। कहा कि वाघासन समूह की ग्राह पंचायत के लेटर पैड पर मुस्लिम फेरीवालों से सामान नहीं खरीदने का जो निर्देश दिया गया, वो आधिकारिक नहीं है।

बनासकांठा जिला विकास अधिकारी स्वप्निल खरे ने कहा, जिस शख्स ने वाघासन समूह ग्राम पंचायत के लेटर पैड पर हस्ताक्षर किए हैं। उसके पास ऐसा करने का अधिकार नहीं है। यह पंचायत वर्तमान में प्रशासक के अधीन है और सरपंच पद के लिए इलेक्शन होना है। उन्होंने कहा कि पत्र निराधार है। किसी को भी इसका पालन करने की जरूरत नहीं है। अफवाह फैलाने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

वायरल हो रहे लेटर पैड में कहा गया है कि वाघासन गांव के दुकानदारों को उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या को देखते हुए मुस्लिम फेरीवालों से सामान नहीं खरीदना चाहिए। इस पर पूर्व सरपंच माफीबेन पटेल के हस्ताक्षर और मोहर है। पत्र में आगे लिखा है, यदि कोई दुकानदार मुस्लिम व्यापारियों से सामान लेते हुए देखा गया। तो उसपर 5100 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। वो पैसा गोशाला में दान किया जाएगा। इस लेटर पैड में 30 जून 2022 की तारीख है।

गौरतलब है कि 28 जून को रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद ने दिनदहाड़े टेलर कन्हैयालाल की हत्या कर दी। दोनों ने कन्हैयालाल की दुकान में घुसकर हथियार से पहले उनके शरीर पर वार किए। फिर गर्दन काटकर मार डाला। हत्यारों ने घटना के बाद खून से सने हथियार दिखाकर हंसते हुए अपना एक वीडियो जारी किया। इसमें अन्य लोगों को भी गला काटने की धमकी दी गई। पुलिस ने राजसमंद से दोनों को गिरफ्तार किया था।

- Advertisement -spot_imgspot_img
Jamil Khan
Jamil Khan
जमील ख़ान एक स्वतंत्र पत्रकार है जो ज़्यादातर मुस्लिम मुद्दों पर अपने लेख प्रकाशित करते है. मुख्य धारा की मीडिया में चलाये जा रहे मुस्लिम विरोधी मानसिकता को जवाब देने के लिए उन्होंने 2017 में रिपोर्टलूक न्यूज़ कंपनी की स्थापना कि थी। नीचे दिये गये सोशल मीडिया आइकॉन पर क्लिक कर आप उन्हें फॉलो कर सकते है और संपर्क साध सकते है

Latest news

- Advertisement -spot_img

Related news

- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here