19.1 C
Delhi
Wednesday, November 30, 2022
No menu items!

मध्यप्रदेश के खरगोन के बाद अब नीमच ने ‘सांप्रदायिक हिंसा’, पत्थरबाजी-आगजनी के बाद धारा 144 लागू

- Advertisement -
- Advertisement -

नीमच (मध्य प्रदेश). राजस्थान और मध्य प्रदेश में सांप्रदायिक हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही हैं। एक मामला शांत नहीं हो पाता है उससे पहले दूसरे शहर में बवाल हो जाता है।

अब खरगोन के बाद नीमच में दरगाह के पास हनुमानजी की मूर्ति स्थापित करने को दो पक्ष आपस में भिड़ गए। देखते ही देखते टकराव इतना बढ़ गया कि भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात करना पड़ा। पुलिस ने दुकानें बंद करा दीं। साथ ही उपद्रवियों को कंट्रोल करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। आखिर में कलेक्टर के आदेश के बाद धारा 144 लागू कर दी गई।

- Advertisement -

पत्थरबाजी और आगजनी के साथ हुई तोड़फोड़
दरअसल, यह पूरा विवाद समुदाय नीमच शहर के पुरानी कचहरी इलाके में आपस में हुआ। जहां दरगाह के पास हनुमानजी की मूर्ति स्थापित करने को लेकर दोनों पक्ष में पहले तो जमकर कहासुनी हुई। इसके बाद तनाव बढ़ने लगा और दोनों गुट एक-दूसरे पर जमकर पत्थरबाजी और आगजनी करने लगे। बताया जाता है कि इस दौरान कई गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गई और वाहनों में आग लगाई गई। हंगामें के बाद भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। .

पुलिस ने उपद्रवियों पर लाठियां भांजी, आंसू गैस के गोले छोड़े
हिंसा की खबर के बाद तुरंत पुलिस और जिला प्रशासन मौके पर पहुंचा और एक्शन लेते हुए पुलिस ने दुकानें बंद करा दीं। इसके अलावा उपद्रवियों पर लाठियां भी भांजी गईं। स्थिति को नियंत्रण करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। फिलहाल स्थिति कंट्रोल में है। प्रशासन ने नीमच शहर में धारा 144 लगा दी है।

बहसबाजी चल रही थी कि होने लगी आगजनी
मामला शांत कराने के लिए स्पॉट पर भारी संख्या में पुलिस के अधिकारी तैनात हैं। वहीं प्रशासन ने दोनों पक्षों को कंट्रोल रूम बुलाया गया और दोनों को समझाइश दी गई है। मुस्लिम पक्ष के लोगों ने आरोप लगाया कि दरगाह की जगह मंदिर का निर्माण किया गया है। मना करने के बाद भी यह लोग नहीं माने बहसबाजी चल रही थी, इसी दौरान कुछ लोगों ने पत्थरबाजी कर दी। वहीं हिंदू पक्ष ने कहा कि सबसे पहले इन्हीं लोगों ने आगजनी और तोड़फोड़ की है। फिलहाल पुलिस अधिकारी वीडियो फुटेज के जरिए अराजकतत्वों की तलाश में जुट गए हैं। किसी के घायल होने की खबर नहीं है।

- Advertisement -
Jamil Khan
Jamil Khanhttps://reportlook.com/
journalist | chief of editor and founder at reportlook media network
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here