नई दिल्ली: कर्नाटक से शुरू हुआ हिजाब विवाद अब दिल्ली तक आ गई है। साउथ दिल्‍ली म्‍यूनिसिपल कॉर्पोरेशन की चेयरमैन निकिता शर्मा ने नोटिस जारी कर कहा है कि केवल स्‍कूल ड्रेस में आने वाले बच्‍चों को स्‍कूल में एंट्री मिलेगी।

धार्मिक कपड़ो में स्कूल में एंट्री नहीं दी जाएगी। जारी नोटिस में कहा गया है कि यह देखा गया है कि कई माता-पिता अपने बच्चों को धार्मिक कपड़ों में स्कूलों में भेज रहे हैं। यह उचित नहीं है। 

आगे इस नोटिस में कहा गया है कि बच्‍चे यूनिफॉर्म में बहुत सुंदर दिखते हैं और दक्षिणी दिल्‍ली नगर निगम समय समय पर यूनिफॉर्म के रंग में बदलाव भी करता रहता है। स्‍कूलों में यूनिफॉर्म इसलिए लागू किए जाते हैं ताकि बच्‍चों में आपस में एक दूसरे के प्रति अमीर-गरीब को लेकर हीन भावना पैदा न हो। बच्‍चों के भीतर असमानता का भाव न आए इसलिए एक ही यूनिफॉर्म पहनना जरूरी है।

गौरतलब है कर्नाटक के कॉलेज में हिजाब का विवाद शुरू और पूरे देश में फैल गया। मामला हाईकोर्ट पहुंच गया है। इसे लेकर सुनवाई भी चल रही है। कर्नाटक उच्च न्यायालय ने शुक्रवार को मामले से जुड़ी सभी याचिकाओं पर सुनवाई पूरी कर ली है। इसके साथ ही हाईकोर्ट की पूर्ण पीठ ने अपना फैसला सुरक्षित रख लिया है।

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

journalist | chief of editor and founder at reportlook media network

Leave a comment