कन्हैयालाल के बाद एक ओर व्यापारी को नूपुर शर्मा का समर्थन करना पड़ा भारी, सरेआम कर डाली हत्या 

राज्यकन्हैयालाल के बाद एक ओर व्यापारी को नूपुर शर्मा का समर्थन करना पड़ा भारी, सरेआम कर डाली हत्या 

अमरावती: महाराष्ट्र के अमरावती में एक दवा कारोबारी उमेश कोल्हे का क़त्ल कर दिया गया था। आरोप है कि विशेष समुदाय के लोगों ने धारदार हथियार से बेरहमी के साथ इस घटना को अंजाम दिया।

इस मामले में पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर 5 अपराधियों को गिरफ्तार किया है।

थानेदार नीलिमा आरज ने मीडिया से चर्चा करते हुए बताया कि उमेश कोल्हे की हत्या के मामले में अब तक 5 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया, किन्तु मुख्य अपराधी अभी भी फरार है। इस कारण हत्या की वजह स्पष्ट नहीं हो सकी है। मुख्य अपराधी की गिरफ्तारी के बाद ही हत्या के पीछे का सही कारण पता चल सकेगा। मिल रही खबर के मुताबिक, महाराष्ट्र के अमरावती में घंटाघर के पीछे 21 जून को अमित मेडिकल शॉप के संचालक उमेश कोल्हे अपने बेटे और बहू के साथ दुकान बंद कर घर लौट रहे थे। उसी वक़्त 3 मोटरसाइकिल सवारों ने उन्हें रोका एवं छुरी से गर्दन पर हमला कर दिया। हमले में उमेश गाड़ी से नीचे गिर गए। घटना को अंजाम देने के बाद अपराधी फरार हो गए। घटना के पश्चात् उमेश का बेटा एवं बहू उन्हें लहूलुहान स्थिति में चिकित्सालय लेकर गए, जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

वही वारदात के पश्चात् पुलिस ने 3 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। पुलिस ने तीन अपराधियों को 24 घंटे में गिरफ्तार कर लिया। तीनों से पूछताछ के बाद दो और अपराधियों को गिरफ्तार किया गया, किन्तु हत्या के पीछे का कारण अब तक स्पष्ट नहीं है। हत्या के वक़्त उमेश के पास 35 हजार का कैश भी था। हैरान कर देने वाली बात है कि अपराधियों ने उनसे यह रकम नहीं लूटी।

नूपुर शर्मा का सपोर्ट करने के बाद डॉक्टर ने मांगी माफी:- 
वही इस वारदात का मामला सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर कई व्यक्तियों को धमकियां मिलने की बातें भी सामने आ रही हैं। अमरावती के डॉक्टर गोपाल राठी ने कहा कि ऐसी खबर सामने आ रही है कि दवा कारोबारी ने नूपुर शर्मा का समर्थन किया। वह पोस्ट उन्होंने अपने स्टेट्स पर रखी, जिसके बाद उनके कई डॉक्टर दोस्त एवं दवा कारोबारियों ने भी उसे लाइक किया। कुछ डॉक्टरों को नूपुर शर्मा को सपोर्ट करने पर माफी मांगने तक की नौबत आई है। डॉ। राठी ने भी पोस्ट का समर्थन किया था। अब उनका कहना है कि यदि इस बात से किसी समाज का दिल दुखा है तो वह माफी मांगते हैं।

वही अमरावती के बीजेपी नेता तुषार ने कहा कि दवा व्यापारी उमेश कोल्हे की मौत दुर्घटना नहीं है, बल्कि नूपुर शर्मा के समर्थन में उतरने के पश्चात् उनका गला काटकर क़त्ल किया गया है। इस मामले में जो अपराधी पकड़े गए, उनका पुराना कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है। पुलिस फिलहाल इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रही है, मगर भाजपा ने इस मामले को नूपुर शर्मा के समर्थन में उतरने के बाद क़त्ल का इल्जाम लगाया है। तुषार ने मांग करते हुए कहा कि इस मामले की जांच ATS से कराई जाए।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles