काहिरा: यमन (Yemen) के हूती विद्रोहियों (Houthi Rebels) द्वारा संचालित एक जेल (Jail) पर सऊदी अरब नीत सैन्य गठबंधन (Saudi Arabia-led Military Coalition) के हवाई हमले (Air Strike) में मरने वालों की संख्या कम से कम 80 हो गई है। विद्रोहियों ने शनिवार को यह जानकारी दी। शुक्रवार को हुआ हवाई हमला एक बड़े हवाई और जमीनी हमले का हिस्सा था जिसने यमन के वर्षों से जारी गृह युद्ध में वृद्धि को चिन्हित किया। यह संघर्ष अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार एवं सऊदी के नेतृत्व वाले गठबंधन द्वारा सहायता प्राप्त सरकार और ईरान समर्थित विद्रोहियों के बीच है।

हूती विद्रोहियों के मीडिया कार्यालय ने मृतक संख्या की जानकारी देते हुए कहा कि बचाव दल अब भी सऊदी अरब के साथ सीमा पर उत्तरी प्रांत सादा में जेल स्थल के मलबे में जीवित बचे लोगों और शवों की तलाश कर रहे हैं। ‘डॉक्टर्स विदाउट बॉर्डर्स’ धर्मार्थ संस्था ने कहा कि हवाई हमले में लगभग 200 लोग घायल हुए हैं।

युद्ध के सबसे घातक हमलों में से एक, हवाई हमले के बाद संयुक्त राष्ट्र और अंतरराष्ट्रीय सहायता एवं अधिकार समूहों ने गठबंधन की फिर से आलोचना की। सऊदी गठबंधन के प्रवक्ता ब्रिगेडियर जनरल तुर्क अल-मल्की ने आरोप लगाया कि हूती विद्रोहियों ने इस जगह को संयुक्त राष्ट्र या रेड क्रॉस की अंतरराष्ट्रीय समिति के समक्ष हवाई हमलों से सुरक्षा की जरूरत वाली जगह के तौर पर चिन्हित करते हुए इसकी सूचना नहीं दी थी। उन्होंने आरोप लगाया कि ऐसा करने में हूतियों की विफलता संघर्ष में मिलिशिया के “सामान्य भ्रामक दृष्टिकोण” का प्रतिनिधित्व करती है। 

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment