असम-मिजोरम सीमा विवाद में भड़की हिंसा के बाद 6 जवानों की मौत

मनोरंजनअसम-मिजोरम सीमा विवाद में भड़की हिंसा के बाद 6 जवानों की मौत

नई दिल्ली, जुलाई 26: असम और मिजोरम के बीच सीमा विवाद और भी भड़कता जा रहा है। ताजा जानकारी के मुताबिक, इस हिंसा में असम पुलिस में 6 पुलिसकर्मियों की मौत हुई है। सोमवार शाम गृह मंत्री अमित शाह ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्री से बात की है। उन्होंने दोनों राज्यों से विवाद सुलझाने के लिए कहा। जिसके बाद मुख्यमंत्रियों ने गृह मंत्री को विवाद सुलझाने और मामले को जल्द ठंडा करने का भरोसा दिया है।

असम के कछार जिले में सीमा पर सोमवार को हुई हिंसा में असम पुलिस के जवानों सहित कई लोग घायल हो गए हैं। अभी प्राप्त जानकारी के मुताबिक, इस हिंसा में घायल 6 पुलिसकर्मियों की इलाज के दौरान मौत हो गई है। उधर सोमवार को मिजोरम के सीएम जोरमथंगा ने पुलिस और नागरिकों के बीच झड़प का एक वीड‍ियो गृह मंत्री अमित शाह और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए ट्वीट किया। उन्होंने इस मामले पर तुरंत कार्रवाई करने की मांग की।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सभी पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलने के ठीक दो दिन बाद असम-मिजोरम सीमा पर सोमवार को फिर से हिंसा देखने को मिली। जिसके बाद दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने इस मामले में गृह मंत्री के हस्तक्षेप की मांग की है। असम के सीएम हिमंता बिस्वा शर्मा ने मिजोरम के मुख्यमंत्री को ट्वीट करते हुए लिखा कि माननीय जोरमथंगा जी, कोलासिब (मिजोरम) के एसपी ने हमसे कहा है कि जब तक हम अपनी पोस्ट से पीछे नहीं हट जाते तब तक उनके नागरिक सुनेंगे नहीं और हिंसा नहीं रोकेंगे। ऐसे हालात में सरकार कैसे चला सकते हैं?

इस ट्वीट के जवाब में जोरमथंगा ने ट्वीट करते हुए लिखा कि हिमंत जी, अमित शाह जी ने दोनों मुख्यमंत्रियों के साथ एक निर्णायक बैठक की थी। उसके बाद आश्चर्यजनक रूप से आज मिजोरम में वेरिंगटे ऑटो रिक्शा स्टैंड के पास असम पुलिस की दो कंपनियां नागरिकों के साथ आईं और वहां मौजूद नागरिकों पर आंसू गैस के गोले दागे और लाठी चार्ज किया। उन्होंने सीआरपीएफ और मिजोरम पुलिस के जवानों को भी भगा दिया। सोमवार को मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथंगा ने झड़प का एक वीडियो ट्वीट करते हुए गृह मंत्री अमित शाह को टैग करते हुए अनुरोध किया था कि इस मामले पर तुरंत कोई कार्रवाई करें।

इस मामले पर मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने कहा कि, मिजोरम की सरकार मिजोरम के क्षेत्र में इस घुसपैठ और आक्रमण में असम सरकार के अनुचित कृत्य की कड़ी निंदा करती है। मिजोरम सरकार को दोनों पक्षों की अनावश्यक चोटों के लिए गहरा खेद है, जिन्हें टाला जा सकता था। केंद्रीय गृह मंत्री के हस्तक्षेप से असम पुलिस जगह से हट गई है और ड्यूटी पोस्ट सीआरपीएफ कर्मियों को वापस सौंप दिया गया है। मिजोरम सरकार चाहती है कि असम के साथ अंतर्राज्यीय सीमा विवाद को शांति और समझ के माहौल में सुलझाया जाए। हम असम राज्य से विवाद के शांतिपूर्ण समाधान के लिए अनुकूल वातावरण बनाने का आह्वान करते हैं।

Check out our other content

Check out other tags:

Most Popular Articles