17.1 C
Delhi
Tuesday, December 6, 2022
No menu items!

लखीमपुर खीरी में प्रदर्शन के दौरान दो किसानों समेत 5 की मौत, भाजपा नेता द्वारा प्रदर्शनकारी को कुचलने के बाद हिंसा

- Advertisement -
- Advertisement -

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में तिकोनिया-बनबीरपुर मार्ग पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के दौरे के खिलाफ रविवार को प्रदर्शन कर रहे केंद्र के कृषि कानून विरोधियों को कथित तौर पर दो एसयूवी गाड़ियों से कुचले जाने के बाद हिंसा भड़क गई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, किसान आंदोलन में 2 किसानों समेत 5 लोगों की मौत हो गई है। अपुष्ट खबरों के मुताबिक इस घटना में कई किसान गंभीर रूप से घायल हुए हैं।

किसान संगठनों का आरोप है कि बीजेपी नेता के एक काफिले में शामिल गाड़ियां किसानों पर चढ़ा दी गई। लखीमपुर खीरी के जिलाधिकारी डॉक्टर अरविंद चौरसिया ने बीबीसी से बातचीत में 5 लोगों की मौत की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि दो लोगों की गाड़ी से कुचलकर और तीन लोगों की गाड़ी पलटने से मौत हो गई है। इस घटना में कुछ पत्रकारों के भी घायल होने की खबर है।

- Advertisement -

नाराज प्रदर्शनकारकियों ने कथित तौर पर दो गाड़ियों को जबरन रोककर उनमें आग लगा दी। उन्होंने कथित तौर पर कुछ यात्रियों की भी पिटाई की है। किसान मौर्य के बनबीरपुर दौरे का विरोध कर रहे थे जो केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और खीरी से सांसद अजय मिश्रा टेनी (Ajay Mishra Teni) का पैतृक गांव है। इसबीच हिंसा के मद्देनजर उपमुख्यमंत्री मौर्य का बनबीरपुर गांव का दौरा रद्द कर दिया गया है।

भारतीय किसान यूनियन ने ट्वीट कर दावा किया कि लखीमपुर खीरी में आंदोलन कर रहे किसानों को गृह राज्यमंत्री टेनी के बेटे ने गाड़ी से रौंदा, तीन किसानों की मौत, तेजेंद्र सिंह विर्क के भी घायल होने की सूचना है। राकेश टिकैत गाजीपुर से निकल रहे हैं। 

इस घटना को लेकर विपक्षी दलों कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, राष्ट्रीय लोकदल और भारतीय किसान यूनियन ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और घटना के लिए बीजेपी और गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे पर आरोप लगाया है। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने घटना की खबर शेयर करते हुए ट्विट कर लिखा, जो इस अमानवीय नरसंहार को देखकर भी चुप है, वो पहले ही मर चुका है। लेकिन हम इस बलिदान को बेकार नहीं होने देंगे- किसान सत्याग्रह ज़िंदाबाद!

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि कृषि कानूनों का शांतिपूर्ण विरोध कर रहे किसानों को भाजपा सरकार के गृह राज्य मंत्री के पुत्र द्वारा, गाड़ी से रौंदना घोर अमानवीय क्रूर कृत्य है।

राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने ट्वीट किया, लखीमपुर खीरी से दिल दहलाने वाली खबरें आ रही हैं। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा का काफिला आंदोलनकारी किसानों पर चढ़ा दिया गया। दो किसानों की मौत हो गई और कई घायल हैं।

चौधरी ने आगे लिखा है कि विरोध को कुचलने का काला कृत्य जो किया है, साजिश जब गृह मंत्री रच रहे हैं, फिर कौन सुरक्षित है। समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव ने इस घटना को लेकर एक ट्वीट में मुख्यमंत्री के इस्तीफे की मांग की। 

उन्होंने कहा कि लखीमपुरी खिरी में भाजपाइयों द्वारा गाड़ी से रौंदे जाने की घटना में गंभीर रूप से घायल किसान नेता तेजिन्दर सिंह विर्क जी से अभी थोड़ी बात हो पाई, उनकी अति गंभीर स्थिति को देखते हुए सरकार उन्हें सर्वोत्तम इलाज उपलब्ध कराए। अखिलेश ने आगे लिखा कि बस एक मांग, मुख्यमंत्री इस्तीफा दें।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर लिखा कि भाजपा देश के किसानों से कितनी नफ़रत करती है? उन्हें जीने का हक नहीं है? यदि वे आवाज उठाएँगे तो उन्हें गोली मार दोगे, गाड़ी चढ़ाकर रौंद दोगे? बहुत हो चुका। ये किसानों का देश है, भाजपा की क्रूर विचारधारा की जागीर नहीं है। किसान सत्याग्रह मजबूत होगा और किसान की आवाज और बुलंद होगी।

- Advertisement -
Jamil Khan
Jamil Khan
Jamil Khan is a journalist,Sub editor at Reportlook.com, he's also one of the founder member Daily Digital newspaper reportlook
Latest news
- Advertisement -
Related news
- Advertisement -spot_img

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here