दुनिया में कई तरह की अजीबोगरीब चीजें खुदाई के दौरान मिलती रहती हैं. खुदाई के दौरान मिली चीजों से सैंकड़ों साल पुराने राज खुलते जाते हैं. ऐसा ही एक राज क्रोएशिया (Croatia) के आर्कियोलॉजिस्ट्स (Archaeologists) ने खोला है. यहां खंडहर हो चुके एक महल (Radošević Palace) के आगे की जमीन से खुदाई के दौरान 17 सौ साल पुराने मिट्टी के घड़े मिले हैं. पहले तो उन्हें ऐसा लगा कि इनके अंदर मसाले या सोने-चांदी भरे होंगे. लेकिन जब ये टूटे तो अंदर लाशें देख वो भी हैरान रह गए.

क्रोएशिया के आइलैंड ऑफ ह्वार (Hvar island) के डाल्मेशियन कोस्ट (Dalmatian coast) के पास बने राडोसेविक पैलेस (Radošević Palace) के

ये बड़े-बड़े बोतल 17 सौ साल बाद भी सही-सलामत बरामद हुए हैं. एक्सपर्ट्स ने बताया कि इनके अंदर सिक्के और कुछ बर्तन भी डाले हुए थे.

रिसर्च में सामने आया कि उस दौर में बच्चों और महिलाओं की लाशों को मिट्टी के ऐसे ही बोतलों में दफनाया जाता था. अभी तक इन लाशों की उम्र का पता नहीं चला है लेकिन रिसर्चर्स इसका पता लगाने में जुटे हैं.

क्रोएशिया में खुदाई के दौरान पुरातत्वविभाग के हाथ चौथी शताब्दी के कई राज लगे हैं. इतिहास में पहली बार आर्कियोलॉजिस्ट्स को मिट्टी के कब्र मिले हैं. इन कब्रों में इतने सालों से बंद लाशें अभी भी सही सलामत हालत में मिले.

700 स्क्वायर फ़ीट की जमीन की खुदाई में ऐसे कई कब्र मिले हैं. इनमें मिली लाशें इतने साल बाद भी सही-सलामत हैं.

लाशों के साथ ही वहां मिट्टी के कई बर्तन भी मिले. एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये खोज अब तक की मिली सभी चीजों में सबसे ज्यादा सुरक्षित है.

इस खुदाई में आर्कियोलॉजिस्ट्स के हाथ पांचवी शताब्दी की एक दीवार का हिस्सा भी लगा है. वहीं दूसरी शताब्दी की भी कई चीजें खुदाई में सामने आई हैं.

क्रोएशिया के पुरातत्वविभाग ने इस खुदाई को दो महीने तक जारी रखा. इसके बाद वहां से कई चीजें खोद कर निकली. इसमें उस दौर की लाइब्रेरी और रीडिंग रूम भी शामिल है.

आर्कियोलॉजिस्ट्स ने इस खुदाई और इसमें मिली चीजों की तस्वीर सोशल मीडिया साइट फेसबुक पर शेयर की है. लोग भी इस खोज से हैरान हैं. इतने सालों बाद मिट्टी के ये बर्तन आज भी सही सलामत ही मिले हैं.

खुदाई में करीब 20 कब्रों से 32 लाशें, कई हड्डियां मिली हैं. इन्हें मिट्टी के जार में बंद कर दफनाया गया था.

Share this article

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या  ट्विटर पर फॉलो करें.

The world is about to receive just the news it needs. My team and I believe that journalism can change the world and we are on a mission to ensure that this happens.

Leave a comment